Tuesday, October 25, 2011

पशुपति क्षेत्र विकास कोषक पदाधिकारीके हटाबयके तयारी


८ कार्तिक, काठमाडौं । संस्कृतिमन्त्री गोपाल किराँती पशुपति क्षेत्र विकास कोषक सदस्य सचिव सहितक पदाधिकारीसबके हटाबयके तयारी भऽ रहल जानकारी देलनि अछि ।

पशुपतिनाथमे चढयबला रुपैयापैसाके पारदर्शी बनाबय निर्देशन दैलापर सहयोग केने आरोप लगबैत एखुनक पदाधिकारीके हटाबय महान्यायधिवक्तासँग सल्लाह भऽ रहल बतौलनि । आइ राजधानीमे आयोजित कार्यक्रममे मन्त्री किराँती कहलनि -राजीनामा सेहो नहि देबयके सरकारक नीति सेहो कार्यान्वयन नहि करत तऽ हम कोषके पदाधिकारीके निकालब ।सर्वोच्च अदालत हुनकासबहक पक्षमे अन्तरिम आदेश देलासँ न्यायालयके सम्मान करैत केहन निकास निकालल जा सकैय से कहि कऽ महान्यायाधिवक्तासँग बिमर्श भऽ रहल ओ बतौलनि । ओ पशुपतिके नगद जिन्सी सार्वजनिक कऽ क आर्थिक पारदर्शिता अपनाबय लेल जोड देलनि ।

अपन आलोचना नहि करय दाहालसँ थापाके आग्रह


बुटवल, कार्तिक ८ । माओवादी महासचिव रामबहादुर थापा अपने पार्टीक महासचिवके चुनौति आ आलोचना कऽ क समय बरवाद नहि करय अध्यक्ष पुष्पकमल दाहालसँ आग्रह केलनि अछि ।

बुटवलमे आइ पत्रकारसबसँग बातचित करैत थापा सकब तऽ सामन्तवादी, प्रतिकृयावादी, विस्तारवादी आ दलालीके आलोचना करय चुनौति देलनि । अध्यक्ष छि कहि कऽ अपने उठौने आ नहि उठौने विषयमे सेहो टिप्पणी आ चुनौति दैत चलब कहैत महासचिव थापा संस्थापन रहल नाममे पार्टीके नीति नियम आ निर्णय उलंघन करय ककरो नहि मिलत टिप्पणी कएलनि ।

सिलिगुडीमे अध्यक्षके हेराएके, मिडिया तथा आम जनता भारतीय गुप्तचर संस्था '' सँग भेटने कहि कऽ आवाज उठबैत एलासँ अपने सेहो रहस्यमय भ्रमणबारे अध्यक्षसँग स्पष्ट करय आग्रह केने बतबैत थापा अध्यक्ष दाहालके चुनौतिके बदला स्पष्टीकरण देनाइ उचित हाएत बतौलनि ।

महासचिव थापा पार्टी उपाध्यक्ष तथा प्रधानमन्त्री बाबुराम भट्टराईके भारत भ्रमणआगु विवादास्पद सन्धी सम्झौता नहि करय पार्टी निर्देशन दैतो ओ बिपा सम्झौता कऽ क पार्टीके निर्णयके अवज्ञा केने दावी कएलनि । बिपा सम्झौताबारे प्रधानमन्त्रीसँग स्पष्टिकरण पुछल जाएत ओ बतौलनि ।

जनकपुरक सुरक्षा ब्यबस्था कडा


८ कातिक जनकपुरधाम । दियाबाती आ छठि पावनिके ध्यानमे रखैत जिल्ला प्रशासन कार्यालय आ जिल्ला प्रहरी कार्यालय जनकपुरक सुरक्षा ब्यबस्था कडा बनाबयके निर्णय केलक अछि ।

धनुषाक बिभिन्न सुरक्षा निकायके प्रमुखसबहक आइ भेल एक बैसारसँ एहन निर्णय केलक अछि । धनुषामे बिभिन्न पावनि तिहारक समयमे अपराधिक तत्वसब अपराधके बढाबा दैत आबिरहल आ एहन समयमे बिभिन्न किसिमक हत्या हिँसा जेहन घटनासब होइत आबि रहलासँ ओइके नियन्त्रण करय सुरक्षा ब्यबस्था कडा बनाओल गेल धनुषाक एसपी हरि बहादुर पाल बतौलनि अछि ।

दियाबातीसँ छठि धरि जनकपुरक सुरक्षा ब्यबस्था कडा बनाबय लेल ठाम ठाम पर पुलिस परिचालन कएल गेल अछि तऽ कडा चेक जाँच सेहो भऽ रहल अछि ।

अहिना दियाबाती तथा छठि पावनिक अवसरमे नेपाल निषेध कएलगेल फटाका तथा बिष्फोटक जन्य पदार्थसब नहि फोरय जिल्ला प्रहरी कार्यालय सबसँ आग्रह केलक अछि । गृह मन्त्रालयके निर्देशन रहल कहैत अहि किसिमक बिष्फोटक पदार्थक खरिद बिक्रि कएने पाओल गेल तऽ कडा कारबाही कएल जाएत सेहो पाल बतौलनि ।

बैसारमे धनुषाक नेपाल प्रहरी प्रमुख, सशस्त्र प्रहरी प्रमुख एसपी एस एसपी सहितक उच्च अधिकारीसबहक सहभागिता छल ।

गद्दाफ़ीके शवके अज्ञात स्थान पर दफ़नाओल गेल


८ कातिक लिबिया ।  लीबिया के अंतरिम प्रशासन (एनटीसी)के अधिकारीके अनुसार कर्नल गद्दाफ़ीके शवके अज्ञात स्थान पर दफ़नाओल गेल अछि ।

एनटीसीके प्रवक्ता एक बयानमें कहलनि जे गद्दाफ़ीके आइ भिन्सर दफ़नाओल गेल अछि । प्रवक्ता इहो बतौलनि जे गद्याफीके बेटाके सेहो गद्दाफ़ीएके सँगे गाडल गेल अछि ।

जनकारीके अनुसार गद्दाफ़ीके किछ रिश्तेदार आ अधिकारी ओ समयमे उपस्थित छल । अहिसँ आगु काल्हि धरि गद्दाफ़ीके शव मिसरातामें एक कोल्ड स्टोरेजमें राखल गेल छल । गद्दाफ़ीके मृत्यु केना कऽ भेल इ अखनो स्पष्ट होबय नहि सकल अछि ।

कक्षा १२ के मौका परीक्षाक परीक्षाफल प्रकाशित


८ कार्तिक, काठमाडौं । उच्च माध्यमिक शिक्षा परिषद् बितल आसिन २८ गते सञ्चालित कक्षा १२ के मौका परीक्षाक परीक्षाफल आइ प्रकाशित केलक अछि ।

परिक्षामे सहभागी ३१ हजार १ सय ८२ मेसँ ८२ दशमलव ८० प्रतिशत अर्थात २५ हजार १ सय १८ गोटे परीक्षार्थी उतिर्ण भेल अछि । परीक्षाफल परिषद्क वेभसाइट www.hseb.edu.np मे देखल जाऽ सकैय ।

नेपाल सम्बतके व्यवहारिक कार्यान्वयनमे लाओल जाएत


८ कात्तिक, काठमाडौँ । सरकार अहिसँ आगुए राष्ट्रिय मान्यता प्रदान कएलगेल नेपाल सम्बतके व्यवहारिक कार्यान्वयमे लाबय लागल अछि ।

मन्त्रिपरिषदक आजुक बैसारसँ नेपाल सम्बतके सरकारी पत्रामे उल्लेख करैत व्यवहारमे कार्यान्वयन करयके निर्णय केलक अछि । नेपाल सम्बत ११३२ काल्हिसँ सुरु भऽ रहल अछि । सरकार नेपाल सम्बतके व्यवहारिक कार्यान्वयनमे लाबय लेल अध्ययन करय नागरिक आन्दोलनके अगुवा एवं वरिष्ठ बाम वुद्धिजिवी पद्यमरत्न तुलाधरक संयोजकत्वमे एक कार्यदल समेत गठन केलक अछि । नेपाल सम्बत अध्ययन तथा सुझाव आयोगक सदस्यमे हरिनारायण मल्ल आ कुमार योञ्जन रहल बैसारकबाद उपप्रधान तथा परराष्ट्रमन्त्री एवं सरकारक प्रवक्ता नारायणकाजी श्रेष्ठ सञ्चारकर्मीके जानकारी देलनि । कार्यदलके नेपाल सम्बतके कोना कऽ व्यवहारिक बनाओल जाऽ सकैय बिषयमे अध्ययन कऽ एक महिनाभितर प्रतिवेदन बुझाबय कहलगेल अछि ।

अहिना बैसारसँ नेपाल सम्बत प्रचलनमे लाबयबला शंखधर साख्वाके नाममे शंखधर साख्वा राष्ट्रिय प्रतिष्ठान गठन करयके निर्णय समेत केने श्रेष्ठले बतौलनि । प्रवक्ता श्रेष्ठ युवा स्वरोजगार कार्यक्रमके उपाध्यक्षमे डा. पुण्य रेग्मीके नियुक्त करयके निर्णय भेल सेहो बतौलनि । मन्त्रिपरिषद किछ समय आगु माओवादी अध्यक्ष प्रचण्डक संयोजकत्वमे गठित लुम्बिनी बृहद् राष्ट्रिय समितिक पदाधिकारीसबके लुम्बिनिके बृहत्तर विकासमे आर्थिक सहितक सहयोग जुटाबय अमेरिकाके न्यूयोर्क भ्रमणमे पठाबयके निर्णय समेत केलक अछि ।

शान्तिप्रक्रियामे माओवादी आ कांग्रेस बाधकः पोखरेल


८ कात्तिक, झापा । नेकपा एमालेक सचिव शंकर पोखरेल माओवादी आ कांग्रेसक अवरोधक कारण शान्ति प्रक्रियामे उल्लेख्य प्रगति होबय नहि सकल आरोप लगौलनि अछि ।

प्रेस चौतारी नेपाल आइ भिन्सर झापाके दमकमे केने पत्रकार भेटघाटमे बजैतन पोखरेल माओवादी आ कांग्रेस दुनु शान्तिप्रक्रियाके पुरा कऽ संविधानसभासँ समयमे संविधान लिखयके मनसायमे नहि रहल बतौलनि । माओवादी आ कांग्रेस शान्ति प्रक्रियामे अनावश्यक झँझट थापिरहल पोखरलक कहब छलनि ।  माओवादी शान्तिप्रक्रिया अपना कहल जका पुरा नहि हाएत तऽ कार्यकर्तामे निराशा जागत आ कांग्रेसमे शान्तिप्रक्रिया  पुरा हाएत तऽ अपने अस्तित्व  खतरामे परयके त्रासमे रहल हुनक दाबी छलनि ।

अपन अपन असान्दर्भिक अडान त्यागि कऽ शान्तिप्रक्रिया आ संविधान निर्माणमे गम्भीर आ इमान्दार बनय पोखरेलक माओवादी आ कांग्रेस नेतृत्वके सुझाव छल । सचिव पोखरेल राष्ट्रवादक राग अलापयबला प्रधानमन्त्री बाबुराम भट्टराई भारतके मनाबय दूरगाकी महत्वके विवादास्पद बिप्पा सम्झौतामे हस्ताक्षर केने आरोप लगौलनि । प्रधानमन्त्री बाबुराम भट्टराईके अपने पार्टीसँ असफल करयके षड्यन्त्र भऽ रहल पोखरेलक कहब छलनि ।

निम एक फायदा अनेक

नीम को एक ऐसे पेड़ के रूप में पेश किया जा रहा है, जो डायबिटीज से लेकर एड्स, कैंसर और न जाने किस-किस तरह की बीमारियों का इलाज कर सकता है। दाद वाली जगहों पर लगाएं, कुछ ही दिनों में दाद का काम तमाम हो जाएगा।अस्थमा के मरीज को नीम के बीजों का तेल पान में डालकर चबाना चाहिए। पथरी होने पर पानी के साथ नीम की पत्तियों की राख नियमित लेने से पथरी गल कर बाहर निकल जाती है।

नीम के फूलों का सेवन करने से कफ नष्ट होता है। नीम की छाल से खांसी, बवासीर आदि रोग दूर होते हैं। शरीर पर सफेद दाग होने पर नीम के फूल, फल तथा पत्तियों को मिलाकर बारीक पीस लें। इसे पानी में मिलाकर पीने से लाभ पहुंचता है। नीम की कच्ची निबोरी के सेवन से पेट के कीड़े, बवासीर व कोढ आदि रोग दूर होते हैं। खाने में अरूचि होने पर नीम के पत्तों का सेवन लाभप्रद है।

यही नहीं, नीम के हरे पत्तों का रस नाक में टपकाने से सिर का दर्द दूर होता है और कान में टपकाने से कान की पीड़ा में आराम मिलता है। जबकि मीठी नीम के सूखे गीले पत्ते कढ़ी में छोंक लगाने तथा दाल को मजेदार बनाने के काम आते हैं। इनको चने के बेसन में मिलाकर पकोड़ी भी बनाई जाती है। नीम के तेल से मालिश करने से विभिन्न प्रकार के चर्म रोग ठीक हो जाते हैं। नीम की पत्तियों को उबालकर और पानी ठंडा करके नहाया जाए तो उससे भी बहुत फायदा होता है।

घाव नीम के पत्तों को पीसकर थोड़ा शहद मिलाकर घाव पर इसका लेप करने से लाभ होता है। प्रतिदिन नीम की दातुन करने से दांतों में सडऩ, दुर्गंध व कीटाणु नहीं रहते हैं।सिर की रूसी समाप्त करने के लिए नीम के पत्तों का काढ़ा बनाकर सिर धोना चाहिए। सफेद बाल काले करने के लिए नीम के तेल की कुछ बूंदें नासिका छिद्रों में टपकाने से सफेद बाल काले हो जाते हैं।

बॉलीवुड एक्ट्रेस-मॉडल आ क्लासिकल डांसर सुमन मिश्रा








प्रचण्ड आ बाबुराम पार्टी छोडि कऽ जाउः गजुरेल


८ कात्तिक, सिन्धुली । एकीकृत नेकपा माओवादीक उपाध्यक्ष मोहन बैद्य पक्षक सचिव सीपी गजुरेल अध्यक्ष प्रचण्ड उपाध्यक्ष एवं प्रधानमन्त्री बाबुराम भट्टराईके पार्टी छोडि कऽ जा चेतावनी देलनि अछि

सिन्धुली सदरमुकाममे आइ आयोजित एक कार्यक्रमम सचिव जगुरेल प्रचण्ड बाबुराम नेपाली क्रान्ति उपर धोका गद्धारी केलासँ हुनकासबके पार्टीम रहयके नैतिक अधिकार नहि रहल दाबी कएलनि । प्रचण्ड बाबुरामके कारबाही कऽ क अपनेसब पार्टीसँ बिदाई कऽ देब घोषणा कएलनि । सचिव गजुरेल भारतसँग प्रधानमन्त्री भट्टराई केने बिपा सम्झौता राष्ट्रघाती भेल आरोप दोहरौलनि । प्रचण्ड बाबराम भारतक दलाली करय लेल बिपा केने हुनक आरोप छलनि । सम्झौतासँ भारतम डुब उद्योग नेपाल आबयके बाट खुला केने हुनक आरोप छन्हि । बिपा सम्झौताम भारतीय उद्योग कमौने नाफा अपने देश लऽ जाएके आ घाटा हाएत तऽ नेपाल सरकारके देबयके प्रावधान रह जिकिर करैत ओ ओइसँ देशके आर्थिक स्थिति खत्तम हाएत कहैत वायह कारण अपनेसब बिपाक विरोध केने जिकिर कएलनि

प्रचण्ड बाबुराम क्रान्तिक बात छोडि कऽ एकतर्फी शान्तिक मात्रे बात कऽ रहल कहैत गजुरेल आपत्ति जनौलनि पार्टी फुट्यके या जुट्यके निर्णय आगामी केन्द्रीय समिति बैसारसँ हाएत खुलासा समेत कएलनि

बलिवुडक १५ सुन्दरी




























































































बाँकी टटका समाचारसब ( Fresh news )

पसन्द केलन्हि

के कतयसँ कि देख रहल छथि ?

कुन देशसँ देखरहल छथि ?

Flag Counter