Monday, October 24, 2011

सुख्खायाममे दैनिक १७ सँ १९ घण्टा लोडसेडिङ


७ कार्तिक, काठमाडौं । प्रधानमन्त्री डा. बाबुराम भट्टराई एखुनक अवस्थामे आगामी सुख्खायाममे दैनिक १७ सँ १९ घण्टा लोडसेडिङ हाएत बतौलनि अछि ।

सुख्खायाममे विद्युत आपूर्ति भारतसँ आयात कएलगेल सहित ३ सय ९० मेगाबाट हाएत आ माँग १ हजार ५० मेगाबाट रहत अनुमान कएलगेल कहैत ओ दैनिक १७ सँ १९ घण्टा लोडसेडिङ हाएत बतौलनि अछि । आगामी खुख्यासाममे बेरियामे ६ सय ५० मेगाबाट आ रातिके समयमे २ सय ५० मेगाबाट कमी हाएतआइ संसदके सम्वोधन करैत भट्टराईले इ कहलनि ।

ओ तत्काले बैकल्पिक व्यवस्था नहि कएल गेल तऽ आगामी वर्षसबमे इ समस्या आरो भयाबह होयबाक चेतावनी देलनि । ५० मेगावाटक मात्र विद्युत आपूर्ति करयके व्यवस्थाके परिर्माजन कऽ २ सय पहुँचाबय भारत सकारात्मक रहल कहैत ओ कुन ठामसँ विद्युत लाओल जाऽ सकैय से अध्ययन करय प्राविधिक समितिके निर्देशन देलगेल जानकारी देलनि ।

प्रधानमन्त्री डा. भट्टराई भारतसँ २ सय मेगावाट विद्युत जँ लाओल जाए तऽ लोडेसडिङ उलेख्य रुपमे घटाओल जाऽ सकैय बतौलनि अछि ।

बैद्य पक्षद्धारा संसदमे बिपा सम्झौताके विरोध


७ कार्तिक, काठमाडौं । सत्तारुढ एकीकृत नेकपा माओवादीक मोहन बैद्य किरण पक्ष व्यवस्थापिका संसदेमे सरकार भारतसँग केने द्धिपक्षीय लगानी प्रवर्द्धन तथा संरक्षण सम्झौता बिपाके विरोध केलक अछि ।

आइ संसदक बैसारमे माओवादी सभासद एकराज भण्डारी बिपा सम्झौता राष्ट्रहितमे नहि रहल बतौलनि । शान्ति आ संविधान निर्माण प्रक्रिया पूरा नहि भेल अवस्थामे कोनो समय राजनीतिक आन्दोलन होबय सकत कहैत ओ उद्योग बन्द होइतेमे क्षतिपूर्ति देबयके प्रावधानसहितक बिपा सम्झौता राष्ट्रहितमे नहि रहल बतौलनि । डब्लुटिओ आ मिगा सम्झौता रहितो भारतके किया विशेष प्रकारक एहन सम्झौता करय परल ? कहि ओ प्रश्न कएलनि ।

ओ कहलनि भारतके विशेष सुविधा नहि दऽ क भारतसँ विशेष सुविधा लेबयके छल ।  माओवादी सभासद भण्डारी बिपा सम्झौता राष्ट्रिय हितमे रहल नहि रहल बिमर्श आ बहस कऽ कर मात्रे अनुमोदन करय सभामुखसँग माँग कएलनि ।

प्रमुख विपक्षी नेपाली कांग्रेसक सभासद रामशरण महत बिपा सम्झौतामे कोनो नयाँ विषय नहि भेल बतौलनि । राष्ट्रहितके ध्यानमे राखि कऽ बिपा सम्झौता करैत काल जुवा खेल्ने कहनाइमे आपत्ति जनबैत सभासद महत राष्ट्रिय हितमे जुवा खेल्उ नहि मिलत बतौलनि ।

अहिना एमाले नेता प्रदीप ज्ञवाली नेपालक प्राथमिकतामे परल २ सय मेगावाट विद्युत आयात, दोहोरा कर प्रणाली अन्त्य सहितक विषयमे कोनो प्रगति होबय नहि सकल आ नेपालक एजेण्डामे नहि रहल बिपा सम्झौतामे हस्ताक्षर भेल कहैतन असन्तुष्टि जनौलनि । वैदाशिक लगानी लाबय अहिसँ आगु भेल मिगा सम्झौता पर्याप्त रहल कहैत ओ काल्हि कोनो राजनीतिक आन्दोलन भऽ भारतीय उद्योगसब बन्द भेल तऽ नेपालके थामय नहि सकय जका क्षतिपूर्तिक माँग होबय सकत बतौलनि ।

'बिपा सम्झौता देशके आवश्यक नहि छल'


काभ्रे, कार्तिक ७ । एमाले अध्यक्ष झलनाथ खनाल प्रधानमन्त्री बाबुराम भट्टराई भारतसँग केने बिपा सम्झौता राष्ट्रघाती रहल आरोप लगबैत बिपा सम्झौता देशके अखन आवश्यक नहि रहल टिप्पणी कएलनि अछि ।

आइ एमाले जिल्ला कमिटी काभ्रे आयोजना केने शुभकामना आदान प्रदान समारोहमे खनाल सम्झौता बाद नेपालक राष्ट्रियतामे दाग लागय सकत बतौलनि ।

सम्झौता कऽ क माओवादी तहसनहस केने आ उद्योग धन्दाके क्षतिपूर्ति राज्यके देबयके अवस्था वर्तमान सरकार खडा केने ओ दाबी कएलनि  । वर्तमान सरकार अवसरवादीसबहक गठबन्धन रहल ओ खुलासा कएलनि ।

अन्तर्राष्ट्रिय चलन अनुसार बिपाः प्रधानमन्त्री


काठमाडौ, कार्तिक ७ । प्रधानमन्त्री बाबुराम भट्टराइ भारत भ्रमणके समय दु देशबीच लगानी प्रबर्द्धन तथा संरक्षण सम्झौता(बिपा) अन्तर्राष्ट्रिय चलन आ मान्यता अनुसारे भेल बतौलनि अछि । ओ ओइ विरुद्ध कएलगेल नकारात्मक टिका टिप्पणी वास्तविकतामे आधारित नहि रहल बतौलनि ।

अपन भारत भ्रमण बारे व्यवस्थापिका संसदमे आइ सम्बोधन करैत ओ सम्झौतासँ देशमे भारतीय लगानी बढाबयके वातावरण बनत उल्लेख कएलनि । 'लगानी बढाबय सेहो कहब आ वातावरण नहि बनाएब,'ओ कहलनि-'सम्झौताके बिरोधीसब दहीयो माँगत आ वर्तन सेहो नुकाओत कहबीके चरित्रार्थ केने अछि ।'

भारतसंगके बढैत व्यापार घाटा कम करय, रोजगारीके सृजना करय आ राजश्व वृद्धि करय भारतीय लगानीके उद्योग नेपालमे खुल्नाइ जरुरी रहल हुनक तर्क छलनि । विपासँ लगानीके वातावरण बनत ओ दावी कएलनि ।

नेपाल २०३८ मे विदेशी लगानी खुला केलाबाद विभिन्न ५ टा देशसँ बिपा सम्झौता भऽ चुकल कहैत ओ वायह अन्तर्गत भारतसंग ओ सम्झौता भेल बतौलनि । 'देश भितर निश्चित स्रोत साधन रहलसमय विदेशी लगानी अपनासबहक बाध्यता अछि',ओ कहलनि । ओ कोनो दल या गुटगत हिसाबसँ विवाद खडा नहि करय आग्रह कएलनि ।

ओ दु पैघ पडोसी देशसँ फाइदा उठाबय व्यापार आ लगानीके वातावरण बनबैत ल ऽ जाए परत बतौलनि । अहि सम्झौतासँ नेपाल आ भारतक आर्थिक सम्बन्धमे सकारात्मक प्रभाव पारत से अपने विश्वास लेने ओ उल्लेख कएलनि ।

भ्रमणके क्रममे उच्च स्तरमे भेल भेटघाटसँ आपसी सदभाव आ विश्वास बढाबयके काम केने हुनक कहब छलनि।

बिपा सम्झौताके विरोध केनाइ झुठेके राष्ट्रवादः भण्डारी


७ कार्तिक, काठमाडौं । मधेसी जनअधिकार फोरम लोकतान्त्रिकके वरिष्ठ नेता शरदसिंह भण्डारी नेपाल  आ भारतबीच भेल लगानी प्रवर्द्धन तथा संरक्षण सम्झौता बिपा राष्ट्रिय हितमे भेल बतौलनि अछि ।

आइ विज्ञप्ती जारी करैत सिंह सम्झौता दुनु देशक आर्थिक उन्नतिके आधारशिला रहल कहैत अहिसँ  देशके आर्थिक उन्नतिदिस अग्रसर कराओत बतौलनि अछि । किछ तत्व देशके उन्नति प्रगति नहि चाहने कहैत ओ बिपा सम्झौताके विरोध कऽ क झुठेके राष्ट्रवादी रहल प्रमाणित केने बतौलनि ।

सम्झौताके विरोध करयबलासब राष्ट्रघाती रहल आ ओसब देशके आर्थिक प्रगति नहि चाहने कहैत ओ कहलनि एहन मानसिकतासँ नेपालके आर्थिक उन्नति करयके नीतिके सयौ वर्ष पाछु धकेल्ने अछि ।

फोरम लोकतान्त्रिकके नेता भण्डारी बिपा सम्झौतासँ देशमे लगानी बढ्यके, विद्यमान बेरोजगारी समस्या समाधान होबयके आ देश आर्थिक उन्नतिके नयाँ युगमे प्रवेश करत  समेत विज्ञप्तीमे उल्लेख कएने छथि ।

सभापतिके जेनातेना नहि बाजय देउवाक चेतावनी


७ कात्तिक, काठमाडौँ । नेपाली कांग्रेसक वरिष्ठ नेता शेरबहादुर देउवा पार्टी भितरके आन्तरिक विवादबारे जेनातेना नहि बाजय सभापति सुशील कोइरालाके चेतावनी देलनि अछि ।

नेपाल विद्यार्थी संघ गणेशमान सिंह बहुमुखी क्याम्पस इकाइ समिति आई राजधानीमे केने चायपान कार्यक्रममे बजैत देउवा विवाद मिलाबयके अछि त सभापतिके विवादित विषयमे सार्वजनिक अभिव्यक्ति देनाइ छोड्य परत बतौलनि । अहिसँ आगु  आइ तनहुँके दमौलीमे आयोजित एक कार्यक्रममे सभापति कोइराला देउवा पार्टी पद्धती नाघि कऽ अराजक गतिविधि कऽ रहल आरोप लगबैत गुटबन्दीके राजनीति करयबलाके बहिस्कार करय कार्यकर्ताके निर्देशन देने छलथि । सभापतिए पार्टी पद्धतीके उल्लङघन केलासँ ओइके सच्याबय सेहो हुनकेसँ सुरु करयके माँग कएलनि ।

नेपाल प्रधानमन्त्रीके जुवा खेलय लेल भारत नहि पठौनेः बिजुक्छे


भक्तपुर, कार्तिक ७ । नेपाल मजदुर किसान पार्टीक अध्यक्ष नारायणमान बिजुक्छे बिपा सम्झौता करा कऽ भारत अखनधरि बाबुराम भट्टराईके भरण पोषण कऽ क ब्याज असुल केने आरोप लगौलनि अछि ।

आई बिजुक्छे निवासमे सञ्चारकर्मीसंग बातचित करैत ओ माओवादीक पार्टीमे भारतीय लगानी रहल आरोप लगौलनि । बिपा सम्झौतासँ नेपालमे भारतीय औपनिबेशिक सुरु भेल उल्लेख करैत इ सम्झौतासँ नेपालमे भारतीय तानाशाही बढल उल्लेख कएलनि । 'माओवादी भारतके कहियो प्रधानशत्रु मानैत अछि तऽ कहियो प्रधान मित्र मानैत अछि । अहिसँ ओकर द्वयध चरित्र रहल पता चलैत अछि ओ कहलनि । 

नेपाल प्रधानमन्त्रीके जुवा खेलय लेल भारत नहि पठौने उल्लेख करैत अध्यक्ष बिजुक्छे बिपा सम्झौता केनाइ नेपालक हित विपरीत रहल बतौलनि । प्रधानमन्त्रीके कारी झण्डा देखनाइ वैद्य पक्षक नाटक मात्रे रहल बिजुक्छेके आरोप छलनि ।

बिरोध करयके छैक तऽ वैद्य पक्षके संसदेमे प्रधानमन्त्रीके राजीनामा माँगय चुनौती देलनि ।

रअके निर्देशनमे काम केने पुष्टि कऽ क देखाबय प्रचण्डक चुनौती


७ कात्तिक, वीरगञ्ज । एकीकृत नेकपा माओवादीक अध्यक्ष पुष्पकमल दाहाल प्रचण्ड अपने भारतीय गुप्तर संस्था रअके प्रतिनिधिसँ भेट केने आ हुनक निर्देशनमे काम केने कहि महासचिव रामबहादुर थापा वादलक आरोपप्रति आपत्ति जनौलनि अछि ।

पार्टी कार्यक्रममे सहभागी होबय आबयके क्रममे आई भिन्सर बाराके सिमरा विमानस्थलमे सञ्चारकर्मीसँग संक्षिप्त बातचित करैत प्रचण्ड ओ आरोप प्रमाणित कऽ क देखाबय चुनौती देलनि । चितवनके भरतपुरमे अध्यक्ष मोहन वैद्य समूहक कार्यकर्ताके गोप्य जमघटमे वादल काल्हि सिलुगुढीमे रअके आदमीसँ भेट कऽ घुरलाबाद प्रचण्ड पाँचहजार लडाकु समायोजनके बात केने आरोप लगौने छलथि । प्रचण्ड अपने रअके निर्देशनमे काम केने नहि केने निष्कर्ष निकालयके अधिकार नेपाली जनतामे मात्र रहल टिप्पणी कएलनि ।

सञ्चारकर्मीके एक जिज्ञासाके जवाफमे ओ भारतसँग भेल बिपा सम्झौताबारे काल्हि पार्टीके स्थायी समितिक बैसार बजा कऽ विस्तृत जानकारी लेब आ ओकरबाद आधिकारिक धारणा बाहर लाएब बतौलनि । पार्टीभितरके असन्तुष्टिके स्वाभाविक रहल कहैत प्रचण्ड हाल जारी विवादसँ पार्टी कोनो हालतमे नहि फुटत जिकिर कएलनि ।

ओ नेपाल सम्बत, दियाबाती, छठि आ बकरइदके अवसरमे माओवादी भोजपुरा राज्य समिति आयोजना केने सार्वजनिक चायपान समारोहमे सहभागी होबय वीरगञ्ज पहुँचल छथि । प्रचण्डसँगै सचिव सिपी गजुरेल आ स्थायी कमिटी सदस्य एवम् मधेस व्यरो इन्चार्ज गिरिराजमणि पोखरेल सेहो वीरगञ्ज पहुँचल छथि ।

हसी मजाक



दारू की वजह से बर्बाद शराबी ने कसम ली और घर से दारू की बोतलें फेंकने लगा। पहली बोतल फेंक कर बोला- तेरी वजह से मेरी नौकरी गई। दूसरी को फेंका और बोला- तेरी वजह से मेरा घर बिका। तीसरी बोतल को फेंका- तेरी वजह से मेरी बीवी चली गई। चौथी उठाई तो वह भरी हुई निकली तो बोला- तू साइड में हो जा... तेरा कोई कसूर नहीं है।
.........................।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।

संताः मैं बहुत कंजूस हूं।

बंताः वह कैसे?

संताः मैं अकेले ही हनीमून पर चला गया और आधे पैसे बचा लिए।

बंताः मैंने तो हनीमून के सारे पैसे बचा लिए।

संताः वह कैसे?

बंताः मेरा एक दोस्त जा रहा था तो मैंने अपनी पत्नी को उसके साथ भेज दिया।
।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।
जज :यह लड़का तुम्हें कब और कहां छेड़ता था?

लड़की : यह पूरा साल मेरे कमरे में रात को आकर मुझे छेड़ता था.

जज : फिर तुमने इसकी शिकायत कब की?

लड़की : जब यह एक रात छेड़ने नहीं आया.

।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।
तीन दोस्त आपस में बातचीत कर रहे थे। पहला बोला, ' मैंने एक बार किक मारी तो फुटबॉल 100 मीटर ऊपर तक चली गई थी।'

दूसरा बोला, ' और मैंने एक बार किक मारी थी तो फुटबॉल दसवीं मंजिल की छत पर जा गिरी थी।'

तीसरा बोला, 'यह तो कुछ भी नहीं। एक बार मैंने फुटबॉल को किक मारी तो वह गायब हो गई। कुछ दिन बाद ऊपर से जमीन पर आ गिरी। उसके साथ एक चिट लगी थी कि अगर यह फुटबॉल दोबारा चांद पर आई तो हम वापस नहीं करेंगे।'
।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।
हिंदी टीचर – संता, काल कितने प्रकार के होते हैं ?

संता – तीन, मैडम ।


टीचर – शाबाश । अब तीनों का एक-एक उदाहरण दो।


संता – मैडम, कल मैंने आपकी बेटी को देखा था, आज मैं उससे प्यार करता हूं और कल मैं उसे भगाकर ले जाऊंगा।
।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।
एक दिन एक तोता दुकानदार के पास जाता है और पूछता है: 'आम है क्या ? दुकानदार ... 'नहीं. हम आम नहीं बेचते'. अगले दिन फिर तोता आया और बोला: आम है क्या ? दुकानदार गुस्से में : 'अरे बोला ना , हम 'आम नहीं बेचते '. तीसरे दिन फिर तोता आया और बोला: आम है क्या ? दुकानदार गुस्से से लाल पिला हो गया। तोते से बोला: बोला ना नहीं है। अब अगर फिर आया तो हथौडा़ मार दूंगा सिर पर। अगले दिन फिर तोता आया और पूछा: हथौडा़ है क्या? दुकानदार: नहीं. तोता: फिर आम है क्या?
।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।
एक ट्रेन उलटने का Case अदालत में था ..

ट्रेन का ड्राईवर जो की संता था, उससे पूछा गया : "तुमने ट्रेन पटरी से क्यूं उतारी ??

संता : "एक आदमी सामने आ गया था तो break मारने का टाइम नहीं था .. मेरे Assistant ने बोला के इस के ऊपर चढ़ा दो."

वकील : "फिर ?"

संता : "बस वोह आदमी पटरी से उतर गया .....!"
।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।
एक फिल्म अभिनेत्री 15वें माले पर स्थित अपने घर की बालकनी में रेलिंग पर खड़ी अपने प्रशंसकों का अभिवादन कर रही थी कि अचानक संतुलन खो बैठी और नीचे गिरने लगी।

12 वें माले की रेलिंग पर खड़े हुए एक नौजवान ने उसे अपनी बांहों में पकड़ लिया और पूछा - ''मुझसे शादी करोगी ?''

''कभी नहीं''- अभिनेत्री ने नफरत से जवाब दिया । ''तो जाओ मरो!'' कहकर नौजवान ने उसे छोड़ दिया और वह फिर नीचे गिरने लगी।

11 वें माले पर खड़े एक अधेड़ ने हाथ बढ़ाकर उसे फिर पकड़ लिया और पूछा - ''मेरी प्रेमिका बनोगी ?''

''हर्गिज़ नहीं!'' उसका इतना कहना था कि इस आदमी ने भी उसे छोड़ दिया।

बेचारी अभिनेत्री को अब मौत सामने नजर आने लगी। वह ईश्वर से एक और मौका देने की प्रार्थना करने लगी कि तभी आठवें माले पर खड़े एक आदमी ने उसका हाथ पकड़ लिया।

''मैं तुमसे शादी कर लूंगी......! मैं तुम्हारी प्रेमिका बनूंगी.....! सब कुछ करूंगी!'' अभिनेत्री आदमी के कुछ बोलने के पहले ही कहने लगी।

''बदचलन औरत..... !'' आदमी ने कहा और हाथ छोड़ दिया।
।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।


मुकेश (डॉक्टर से)- साहब, मुझे एक समस्या है?

डॉक्टर- क्या?

मुकेश- बात करते वक्त आदमी दिखायी नही देता।

डॉक्टर- ऐसा कब होता है?

मुकेश- फोन करते वक्त!!
।।।।।।।।।।।।।।।।।।

एक चोर एक घर में चोरी करने दाखिल हुआ। लेकिन इसी बीच घर में मौजूद पत्‍नी की नींद खुल गई। उसने चोर को पकड लिया और उसके ऊपर बैठ गई।

चोर बहुत दुबला पतला था और औरत उसकी तुलना में उतनी ही मोटी।

इसी बीच पत्‍नी ने पति को आवाज़ लगाई और कहा, जाओ पुलिस को बुलाकर लाओ। कुछ देर बाद भी जब पति घर में ही दिखाई दिया तो पत्‍नी ने चिल्‍लाकर पूछा, अरे क्‍या हुआ अभी तक पुलिस थाने नहीं गए।

पति ने आवाज़ लगाई डार्लिंग अपनी चप्‍पल ढूंढ रहा हूं। इसी बीच चोर ने पति से कहा, अबे मेरी चप्‍पल पहन कर जा, लेकिन जल्‍दी कर.........
.।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।
संता- मुझे आज तुम्हारी उंगलियां काटनी पड़ेगी।

पत्नी- क्यों?

संता- पप्पू कह रहा था कि उसे 'लेडी फिंगर' की सब्जी खानी हैं।
।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।
एक काली अफ्रीकन लड़की को भगवान ने पंख दिए तो वह खुशी से बोली- वॉव्! भगवान क्या अब मैं परी बन गई हूं?

भगवान- नहीं रे पगली, तुम अब चमगादड़ बन गई हो।
।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।
पहला दोस्त- संत कबीर दास जी कहते थे- आज का काम कल पर मत छोड़ो, क्योंकि हो सकता है कल प्रलय आ जाए और सब खत्म हो जाए।

दूसरा दोस्त- आज का नौजवान कहता है- आज का काम कल पर जरूर छोड़ो.., हो सकता है कल उसके लिए कोई मशीन आ जाए और काम और भी आसान हो जाए।

हिन्दुसबहक पावनि शुकराती आइसँ शुरु


७ कातिक जनकपुरधाम । हिन्दुसबहक पावनि शुकराती आइसँ शुरु भेल अछि ।

कातिक कृष्ण त्रयोदशीस कातिक शुक्ल द्धितियाधरि पाँच दिनधरि मनाओल जायबला शुकरातीके यमपन्चक सेहो कहल जाइत अछि ।

यमपन्चक पहिल दिन आइ तिथिअनुसार दियाबातीके पहिल दिन होइतो कुकर आ कौवाके पुजा करयके पावनि काल्हि एकेदिन परल नेपाल पञ्चाङ्ग निर्णायक समिति जनौलक अछि । काल्हि भिन्सर कौवाके पूजा कएल जाएत तऽ बेरियामे कुकुरके पूजा कएल जाएत । अहिना बुधके राति दोकान, सँस्था तथा घर घरमे धनक देबी माता लक्ष्मीके सेहो पुजा कायल जाएत । ओहि रातिभरि दिबौरी बारि फटाका फोरैत हर्षोउल्लासके सँग लक्ष्मी माताके पुजन क दियाबाती मनाओल जाएत । बृहस्पतिदिन गाइके पुजा कएल जाएत तऽ शुक्रदिन भाइ बहिनक पावनि भरदुतिया मनाओल जाएत ।

अहि वर्षक भरदुतियाके टिका लगाबयके शुभ समय कात्तिक ११ गते भिन्सर ११ बाजि कऽ ४५ मिनेटमे रहल समिति जनौलक अछि । दिदी बहिनसब अपन भाइ भैयाके सुस्वास्थ्य, दीर्घायु तथा अटल सौभाग्यके कामना करैत माथमे टिका लगाबयके चलन अछि ।

एम्हर दियाबातिके लऽ लोकसब किछदिन पहिनेहिसँ अपन अपन दोकान घर तथा कलकारखाना सब धो पखारि कऽ साफ सुथरा केने अछि ।

अहिबिच आई धनतेरस सेहो अछि । आजुक दिन धातुके समान किनलासँ घरमे लक्ष्मी माताक बास होयबाक जनबिश्वास सेहो रहल अछि ।  आजुक दिन जनकपुर सहित नेपाल भारतक बिभिन्न ठामक बजारसबमे धातुके समान तथा सोनचाँदी किनबाक लेल बिशेष भिड दखल जाऽ रहल अछि । धनतेरशके लऽ स्थानिय ब्यापारीसब सेहो ओतबे उत्साहित देखलगेल अछि । आजुक दिन आन दिनक अपेक्षा बेसी आम्दानी होयबाक ब्यापारीसब बतौलक अछि । 

आइ सँयुक्त राष्ट्र सँघ दिवस


७ कातिक जनकपुरधाम । आइ सँयुक्त राष्ट्र सँघ दिवस नेपालमे सेहो बिभिन्न कार्यक्रम क मनाओल जारहल अछि । सँयुक्त राष्ट्र सँघक स्थापना सन् १९४५ अक्टोबर २४ तारिखके दिन भेला स आजुक दिनके प्रत्येक बर्ष सँघक स्थापना दिवसके रुपमे मनाओल जाइत अछि ।

अमेरिकाक न्यूयोर्कम मुख्यालय रह राष्ट्रसंघम हाल एक सय २९ सँ बेसी राष्ट्र सदस्य अछि । नेपाल सेहो संयुक्त राष्ट्रसंघक सदस्य राष्ट्र अछि

बाँकी टटका समाचारसब ( Fresh news )

पसन्द केलन्हि

के कतयसँ कि देख रहल छथि ?

कुन देशसँ देखरहल छथि ?

Flag Counter